Aadatan- Hindi Poetry on True love and betrayal

by | Dec 10, 2019 | BETRAYAL, LOVE, SENTIMENTS | 0 comments

सच्चे प्यार और विश्वासघात पर हिंदी कविता

आदतन

आदतन मोहब्बत नहीं हुई थी मुझको
आदतन उसका यूँ टकरा जाना याद आता रहा

आदतन बेखौफ बढ़ता रहा मैं उसकी  ओर
आदतन वो मिलने का दस्तूर निभाता रहा

आदतन मैं रेत पर घर बनाता रहा
आदतन वो मेरा सब्र  परखता रहा

आदतन मैं ख्वाब  बुनता  रहा
आदतन वो उनसे नज़रें चुराता रहा

आदतन उसकी एक दीद को ईद सा बनाया हमने
आदतन वो बादलों में छुपता रहा

आदतन उसकी सोहबत की आदत हो गई
आदतन वो बर्फ सा हाथों से फिसलता रहा

आदतन उसको कई खत भेजे हमने
आदतन वो अपना पता  बदलता  रहा

आदतन उसका नाम मैंने  हथेली में ढूँढा
आदतन वो गलत नाम बताता रहा

 आदतन उसके हर झूठ को  सच माना हमने
आदतन वो मुझे “बना”  लेने के  गुमान में जीता रहा

आदतन उसका वख्त ही चाहा था मैंने
आदतन वो अपनी मुफ़लिसी गिनाता रहा

आदतन जब उसको यादों से खुद को छुड़ाने लगे
आदतन उसका यूँ मुकर जाना दिल दुखाता  रहा

 आदतन उसको हमने रुस्वा न किया
आदतन मैं मोहब्बत की रिवायत निभाता  रहा

आदतन वख्त हर घाव भरता रहा
आदतन मैं उसकी खुदगर्ज़  मोहब्बत को माफ़ करता रहा  

आदतन मोहब्बत नहीं हुई थी मुझको
आदतन उसका यूँ टकरा जाना याद आता रहा

अर्चना की रचना  “सिर्फ लफ्ज़ नहीं एहसास”  

0 Comments

Submit a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *