Hindi poetry

RELATIONSHIPS

Manmarziyaan- Hindi poetry on love and romance

Manmarziyaan- Hindi poetry on love and romance

प्यार और रोमांस पर हिंदी कविता मनमर्ज़ियाँ चलो थोड़ी मनमर्ज़ियाँ करते  हैंपंख लगा कही उड़ आते हैं यूँ तो ज़रूरतें रास्ता रोके रखेंगी हमेशापर उन ज़रूरतों को पीछे छोड़थोड़ा चादर के बाहर पैर फैलाते हैंपंख लगा कही उड़ आते हैं ये जो शर्मों हया  का...

read more
Kiraye Ka Makan- Hindi poetry on sentiments and attachment

Kiraye Ka Makan- Hindi poetry on sentiments and attachment

भावनाओं पर हिंदी कविता किराये का मकान बात उन दिनों की हैजब बचपन में घरोंदा बनाते थेउसे खूब प्यार से सजाते थेकही ढेर न हो जायेआंधी और तूफानों मेंउसके आगे पक्की दीवारबनाते थे वख्त गुज़रा पर खेल वहीअब भी ज़ारी हैबचपन में बनाया घरोंदाआज भी ज़ेहन पे हावी है घर से निकला...

read more
Tera Talabgar- Hindi poetry On love

Tera Talabgar- Hindi poetry On love

प्यार पर हिंदी कविता तेरा तलबगार जाओ अब तुम्हारा इंतज़ार नहीं करूंगीके अब खुद को मायूस बार बार  नहीं करूंगी बहुत घुमाया तुमने हमें अपनी मतलबपरस्ती मेंके  अब ऐसे खुदगर्ज़ से कोई सरोकार नहीं रखूंगी रोज़ जीते रहे तुम्हारे झूठे  वादों कोके अब मर के भी...

read more
Wo Purana Ishq- Hindi poetry on true love

Wo Purana Ishq- Hindi poetry on true love

सच्चे प्यार पर आधारित हिंदी कविता वो पुराना इश्क़  वो इश्क अब कहाँ मिलता हैजो पहले हुआ करता थाकोई मिले न मिलेउससे रूह का रिश्ताहुआ करता था आज तो एक दँजाहीसी सी है,जब तक तू मेरी तब तक मैं तेराशर्तों पे चलने की रिवायतसी है ,मौसम भी करवट लेने से पहलेकुछ...

read more
Gaadi ke do pahye- Hindi poetry on women Empowerment

Gaadi ke do pahye- Hindi poetry on women Empowerment

महिला सशक्तिकरण पर हिंदी कविता गाडी के दो पहिए मैं स्त्री हूँ , और सबकासम्मान रखना जानती हूँकहना तो नहीं चाहतीपर फिर भी कहना चाहती हूँकिसी को ठेस लगे इस कविता सेतो पहले ही माफ़ी चाहती हूँसवाल पूछा है और आपसेजवाब चाहती हूँ क्या  कोई  पुरुष,...

read more
Kuch kahi chhut gaya mera- Hindi poetry On love and romance

Kuch kahi chhut gaya mera- Hindi poetry On love and romance

प्यार और रोमांस पर हिंदी कविता कुछ कही छूट गया मेरा  तुम अपना घर ठीक सेढूंढना ,कुछ वहींछूट गया मेरा ढूंढ़ना उसे , अपने किचन मेंजहाँ  हमने साथ चाय बनाई थीतुम चीनी कम लेते होये बात तुमने उसे पीने के बाद  बताई थीउस गरम चाय की चुस्की लेकरजब तुमने रखा था दिल...

read more
Pita- Hindi poetry on Father

Pita- Hindi poetry on Father

पिता पर हिंदी कविता "पिता " लोग कहते हैं , मैं अपने पापा जैसे दिखती हूँ,एक बेटे सा भरोसा था उनको मुझपरमैं खुद को भाग्यशाली  समझती हूँ। मैं रूठ जाती थी उनसे, जब वो मेरे गिरने पर उठाने नहीं आते थेपर आज समझती हूँ , वो ऐसा क्यों करते थेआज मैं अपने पैरों पे हूँ ...

read more
Hindi inspirational poetry on Betrayal

Hindi inspirational poetry on Betrayal

प्रेरणादायक हिंदी कविता व्यंग्य  धोखा /विश्वासघात  भला उनका करो जोबदले में तुमकोदुआ के  सिवा कुछ भीदे नहीं सकते उनका भला मत करोजिनसे  उम्मीद है तुमको ,वो स्वार्थवश  लिपटे हैं तुमसेवो कुछ कर नहीं सकते क्योंकि इनका भला करकेतुम खुद का नुकसान करते...

read more

Pin It on Pinterest