Hindi poetry

INSPIRATIONAL

kyon A Hindi poetry on International women day

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर हिंदी कविता  क्यों  क्यों एक बेटी की विदाई तक ही एक पिता उसका जवाबदार है ? क्यों किस्मत के सहारे छोड़ कर उसको कोई न ज़िम्मेदार है?   क्यों घर बैठे एक निकम्मे लड़के पर वंश का दामोदर है ? क्यों भीड़ चीरती अपना आप खुद लिखती एक बेटी का न कोई...

read more

lazmi sa sab kuch A Hindi poetry about life

जीवन पर आधारित हिंदी कविता  लाज़मी सा सब कुछ  मुझे वो लाज़मी सा सब कुछ दिलवा दो जो यूं ही सबको मिल जाता है न जाने कौन बांटता है सबका हिस्सा जिसे मेरे हिस्सा नज़र नहीं आता है   बहुत कुछ गैर लाज़मी तो मिला अच्छे नसीबो से पर लाज़मी सा सब कुछ मेरे दर से लौट जाता है   न छु सकूँ...

read more

sach a motivational Hindi poetry on life

जीवन पर आधारित प्रेरणात्मक हिंदी कविता  सच  कितना सरल है, सच को स्वीकार कर जीवन में विलय कर लेना संकोच ,कुंठा और अवसाद को खुद से दूर कर लेना   जिनके लिए तुम अपने हो वो हर हाल में तुम्हारे ही रहेंगे, कह दोगे जो हर बात दिल की तो उनसे रिश्ते और गहरे ही जुड़ेंगे कितना सरल...

read more

kaha tak sath chaloge A Hindi poetry based on expectations in relationships

रिश्तों पर आधारित हिंदी कविता  कहाँ तक साथ चलोगे  सबसे जुदा हो कर पा तो लिए तुमको मैंने पर ये तो बोलो कहाँ तक साथ चलोगे ? न हो अगर कोई बंधन रस्मो और रिवाजों का क्या तब भी मेरा ही साथ चुनोगे बोलो कहाँ तक साथ चलोगे ?   एक धागे में पिरोई माला तक सिमित रहेगा प्यार...

read more

wakht ki aajmayish A motivational Hindi poetry based on life

जीवन पर आधारित हिंदी कविता  वख्त की आज़मायिश ये जो मेरा कल आज धुंधला सा है सिर्फ कुछ देर की बात है अभी ज़रा देर का कोहरा सा है   धुंध जब ये झट जाएगी एक उजली सुबह नज़र आएगी बिखरेगी सूरज की किरण फिर से ये ग्रहण सिर्फ कुछ देर का है   अभी जो अँधेरा ढीठ बना फैला हुआ है...

read more

mere jaisi main A thoughtful Hindi poetry on woman

नारी पर आधारित एक विचारणीय हिंदी कविता  मेरे जैसी मैं  मैं कहाँ  मेरे जैसी रह गयी हूँ  वख्त ने बदल दिया बहुत कुछ मैं कोमलांगना से   काठ जैसी हो गई हूँ मैं कहाँ  मेरे जैसी रह गयी हूँ  समय के साथ बदलती विचारधारा ने  मेरे कोमल स्वरुप को एक किवाड़ के  पीछे बंद तो कर दिया...

read more

Karam A Inspirational Hindi poetry based on love

प्रेम पर आधारित प्रेरक हिंदी कविता  करम  मेरे महबूब का करम मुझ पर जिसने मुझे, मुझसे मिलवाया है नहीं तो, भटकता रहता उम्र भर यूं ही मुझे उनके सिवा कुछ भी न नज़र आया है   लोग इश्क में डूब कर फ़ना हो जाते हैं पर मैंने डूब करअपनी मंजिलों को रु ब रु पाया है मेरे महबूब का करम...

read more

Dosti A inspirational Hindi poetry on Friendship

दोस्ती पर एक प्रेरक हिंदी कविता       चलो थोडा दिल हल्का करें कुछ गलतियां माफ़ कर आगे बढें बरसों लग गए यहाँ तक आने में इस रिश्ते को यूं ही न ज़ाया करें कुछ तुम भुला दो , कुछ हम भुला दें   कड़ी धूप में रखा बर्तन ही मज़बूत बन पाता है उसके बिगड़ जाने का मिटटी को क्यों दोष दें...

read more

Chhal A inspirational Hindi poetry based on life and love

जीवन और प्रेम पर आधारित हिंदी कविता  छल  छल और प्यार में से क्या चुनूँ जो बीत गया उसे साथ ले कर क्यों चलूँ   पतंग जो कट गई डोर से वो खुद ही कब तक उड़ पायेगी हालात के थपेडों से बचाने को उसको फिर नयी डोर का सहारा क्यों न दूं   जो शाख कभी फूलों से महकी रहती थी वो पतझड़ में...

read more

Pin It on Pinterest