Hindi poetry

WOMEN EMPOWERMENT

bandishein Hindi poetry on women empowerment

नारी सशक्तिकरण पर हिंदी कविता    बंदिशें  "इस तन पर सजती दो आँखें बोलो किस से ज्यादा प्रेम करोगे, काटना चाहो अपना एक हाथ तो बोलो किस हाथ को चुनोगे "   कुछ ऐसा ही होता है बेटी का जीवन सब कहते उसे पराया धन बचपन से ही सीखा दिए जाते हैं बंदिश में रहने के सारे फ़न एक कोख एक...

read more

aaj ki nari Hindi poetry on Women empowerment

महिला सशक्तिकरण पर हिंदी कविता  आज की नारी  मैं आज की नारी हूँ  न अबला न बेचारी हूँ  कोई विशिष्ठ स्थान न मिले चलता है  फिर भी आत्म सम्मान बना रहा ये   कामना दिल रखता है  न ही खेला कभी  women कार्ड  मुश्किलें आयी हो चाहे हज़ार  फिर भी कोई मेरी आवाज़ में आवाज़   मिलाये  तो...

read more

kyon A Hindi poetry on International women day

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर हिंदी कविता  क्यों  क्यों एक बेटी की विदाई तक ही एक पिता उसका जवाबदार है ? क्यों किस्मत के सहारे छोड़ कर उसको कोई न ज़िम्मेदार है?   क्यों घर बैठे एक निकम्मे लड़के पर वंश का दामोदर है ? क्यों भीड़ चीरती अपना आप खुद लिखती एक बेटी का न कोई...

read more

shivanshi A Hindi poetry illustrating life of river and woman

नदी और स्त्री जीवन को दर्शाती हिंदी कविता  शिवांशी  मैं शिवांशी , जल की धार बन  शांत , निश्चल और धवल सी  शिव जटाओं से बह चली हूँ  अपने मार्ग खुद ढूँढती और बनाती आत्मबल से भरपूर  खुद अपना ही  साथ लिए  बह चली हूँ  कभी किसी कमंडल में  पूजन को ठहर गई हूँ  कभी नदिया बन...

read more

mere jaisi main A thoughtful Hindi poetry on woman

नारी पर आधारित एक विचारणीय हिंदी कविता  मेरे जैसी मैं  मैं कहाँ  मेरे जैसी रह गयी हूँ  वख्त ने बदल दिया बहुत कुछ मैं कोमलांगना से   काठ जैसी हो गई हूँ मैं कहाँ  मेरे जैसी रह गयी हूँ  समय के साथ बदलती विचारधारा ने  मेरे कोमल स्वरुप को एक किवाड़ के  पीछे बंद तो कर दिया...

read more
Laadli- Hindi Poetry on women empowerment/ Daughters/ save Girl child

Laadli- Hindi Poetry on women empowerment/ Daughters/ save Girl child

महिला सशक्तिकरण / बेटी / बेटी बचाओ पर हिंदी कविता लाडली मैं  बेटी हूँ नसीबवालो   के घर जनम  पाती हूँकहीं  "लाडली" तो कहीं  उदासी का सबब बन जाती  हूँ नाज़ुक से कंधो पे होता  है बोझ बचपन से कहीं  मर्यादा  और समाज के...

read more
Nari Hona Accha Hai- Hindi Poetry On Women empowerment/save girl

Nari Hona Accha Hai- Hindi Poetry On Women empowerment/save girl

महिला सशक्तिकरण / बेटी बचाओ पर हिंदी कविता नारी होना अच्छा है नारी होना  अच्छा है पर उतना आसान नहींमेरी ना  मानो  तो इतिहास गवाह  है किस किस ने दिया यहाँ बलिदान नहीं  जब लाज बचाने  को द्रौपदी की खुद मुरलीधर को आना...

read more
Es Baar Ki Navratri- Hindi poetry on woman empowerment/Durga Pooja/save girl

Es Baar Ki Navratri- Hindi poetry on woman empowerment/Durga Pooja/save girl

महिला सशक्तिकरण / दुर्गा पूजा / बेटी बचाओ पर हिंदी कविता इस बार की नवरात्री इस बार घट स्थापना वो ही करेजिसने कोई बेटी रुलायी न होवरना  बंद करो ये ढोंग नव दिन देवी पूजने का जब तुमको किसी बेटी की चिंता सतायी न हो   सम्मान,प्रतिष्ठा और वंश...

read more
Meri Zindagi ke Ravan- Hindi poetry on women empowerment/save girl

Meri Zindagi ke Ravan- Hindi poetry on women empowerment/save girl

महिला सशक्तिकरण / बेटी बचाओ पर हिंदी कविता मेरी ज़िन्दगी का रावण मेरी  ज़िन्दगी के रावणअब मुझे जलाने हैंमान मर्यादा लोक लाजके बंधन अब मुझेभुलाने हैं मैं प्यारी और दुलारी थीजब तक अपनीउपेक्षा सेहती रहीतुम्हारे बेटा बेटी के दुर्भाव मेंमैं अपने अधिकार छोड़ती...

read more

Pin It on Pinterest